Header Ads

चौ. भूपेन्द्र सिंह का यह दावा बिल्कुल ठीक है कि 15 सदस्य उनके पाले में हैं

चौ. भूपेन्द्र सिंह का दावा है कि रेनू पक्ष के लोग कुछ भी कहें, उनके साथ सभी 15 सदस्य मजबूती के साथ हैं.

यह रात चौ. चन्द्रपाल सिंह तथा चौ. भूपेन्द्र सिंह के लिए बहुत लंबी होगी। जहां चौ. चन्द्रपाल सिंह अपनी पुत्रवधु रेनू चौधरी वहीं चौ. भूपेन्द्र सिंह अपनी पत्नि सरिता चौधरी की कुर्सी के लिए संघर्षरत हैं। कल का दिन दोनों की राजनीतिक दिशा तय करेगा। जिला पंचायत की कमान किसके पास होगी यह सोमवार का दिन बतायेगा।

renu-chaudhary-sarita-chaudhary-zila-panchayat
रेनू चौधरी और सरिता चौधरी (जिला पंचायत अमरोहा).

जहां सरिता चौधरी अपने साथ रेनू चौधरी के तख्ता पलट करने लायक सदस्य होने का दावा कर रही हैं वहीं रेनू चौधरी अपनी कुर्सी बचाये रखने लायक बहुमत की बात कह रही हैं। कल को मतदान तय कर देगा, किसके साथ कितने मत हैं।

चौ. भूपेन्द्र सिंह का यह दावा बिल्कुल ठीक है कि 15 सदस्य इस समय उनके पाले में हैं। यदि ये सभी मतदाता सरिता चौधरी के पक्ष में मतदान करेंगे तो रेनू की कुर्सी चली जायेगी। क्योंकि कुल 28 मतों में से रेनू चौधरी के पक्ष में केवल 13 सदस्य रह जायेंगे।

जरुर पढ़ें : रेनू का तख्ता पलट के लिए भूपेन्द्र की मजबूत रणनीति

उधर रेनू पक्ष का दावा है कि भूपेन्द्र के पास जो सदस्य हैं उनमें एक उनके पक्ष में मतदान करेगा। यही तुरुप का पत्ता होगा जो वास्तव में सारे खेल का फैसला करेगा। मतदान के समय तक इसका खुलासा नहीं होगा।

चौ. भूपेन्द्र सिंह का दावा है कि रेनू पक्ष के लोग कुछ भी कहें, उनके साथ सभी 15 सदस्य मजबूती के साथ हैं। उनका एक-एक सदस्य उनके साथ है। बल्कि रेनू के पाले का एक सदस्य उन्हें ही मत देगा। ऐसे में उन्हें पन्द्रह नहीं बल्कि 16 मत मिलेंगे।

कुछ भी हो इस रात दोनों पक्ष को नींद नहीं आयेगी और यह रात लंबी होगी। कल का सूरज लंबे इंतजार के बाद उगेगा।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...