रेनू के तख्तापलट की तैयारी : 26 फरवरी को होगा अविश्वास पर मतदान

जिला पंचायत अध्यक्ष रेनू चौधरी की कुर्सी बचाने को चेतन, महबूब और कमाल एकजुट.
renu-chaudhary-sarita-chaudhary-zila-panchayat

जिला पंचायत की कुर्सी का फैसला 26 जनवरी को हो जाएगा। अध्यक्ष रेनू चौधरी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को हरी झंडी मिलने के बाद जिला प्रशासन ने यह तारीख तय की है।

अविश्वास प्रस्ताव लाने वाली जिला पंचायत सदस्य सरिता सिंह के साथ उन्हें मिलाकर कुल 16 सदस्य हैं। कुल 28 सदस्यों की पंचायत में अविश्वास प्रस्ताव के लिए यह पर्याप्त हैं। सरिता के पति चौधरी भूपेंद्र सिंह के अनुसार सभी 16 सदस्य मजबूती से उनके साथ हैं तथा अविश्वास प्रस्ताव में एकजुट होकर मतदान करेंगे। इसके विपरीत रेनू चौधरी के खेमे में मात्र 12 सदस्य ही हैं अतः उनकी कुर्सी 26 फरवरी को छिननी तय है।

उल्लेखनीय है कि 6 माह पूर्व भी भूपेंद्र सिंह ने अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी की थी लेकिन उस समय कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान ने रेनू चौधरी का पक्ष लेते हुए वीटो कर दिया था जिससे उनकी कुर्सी बच गई।

जरुर पढ़ें : ये जिला पंचायत सदस्य आये रेनू के विरोध में

इस बार भी चेतन चौहान ने उनकी कुर्सी बचाने की हामी भरी थी लेकिन लखनऊ से दबाव पड़ने पर वह खामोश हो गए हैं। ऐसे में भूपेंद्र सिंह ने राहत की सांस ली है और उन्हें उम्मीद है कि इस बार रेनू चौधरी का तख्तापलट हो जाएगा।

उधर सपा हाईकमान ने महबूब अली और कमाल अख्तर को निर्देशित किया है कि वह हर हाल में तख्तापलट को रोकें। इससे सियासी माहौल गर्मा गया है और भूपेंद्र के 16 सदस्यों में सेंधमारी की तैयारी है, लेकिन भूपेंद्र सभी सदस्यों को अज्ञात स्थान पर ले गए हैं। पहले से हल्द्वानी बताए जा रहे थे।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...