Header Ads

पूर्व मंत्री चिदम्बरम के बेटे कार्ति को मिली जमानत

karti-chidambram
हाईकोर्ट में बहस के दौरान सीबीआई ने कार्ति चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया.

आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में दिल्ली हाईकोर्ट ने कार्ति चिदंबरम को जमानत दे दी. 16 मार्च को जस्टिस एस.पी. गर्ग की बेंच ने अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था. कोर्ट में कार्ति के वकीलों ने दलील दी थी कि सीबीआई कर्ति से पूछताछ कर चुकी है, इसलिए उन्हें न्यायिक हिरासत में रखने का कोई कारण नहीं बनता है. दिल्ली हाईकोर्ट में ज़मानत पर बहस के दौरान सीबीआई ने जमानत याचिका का विरोध किया. कार्ति पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे हैं.

एयरसेल मैक्सिस केस में कार्ति ने विदेशी निवेश को मंजूरी दिलाने के मामले में सीबीआई और ईडी के विरूद्ध अंतरिम जमानत के लिये पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर की है.

सीबीआई का कहना है कि यदि कार्ति को जमानत दी गई तो वे इस मामले के साक्ष्यों को प्रभावित कर सकते हैं. बेंच ने दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया.

कार्ति पर यह आरोप है कि 2007 में उनके पिता के केंद्रीय वित्तमंत्री कार्यकाल के वक्त आईएनएक्स मीडिया को करीब 305 करोड़ रुपये की विदेशी फंडिंग के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड से मंजूरी लेने में घपला किया गया था.