Header Ads

इस बार आम के रिकॉर्ड उत्पादन की उम्मीद

mango-tree-pic
पिछले 50 वर्षों में कभी ऐसा नहीं हुआ कि आम के सभी पेड़ों पर पूरे भरकर एक साथ बौर लदा हो.

यदि मौसम मेहरबान रहा यानि तेज आंधी नहीं आयी तो इस बार जनपद में रिकार्डतोड़ आम उत्पादन होगा। इस बार अप्रत्याशित बौर से आम के पेड़ लद गये। अधिकांश बौर रोगमुक्त भी रहा। जिससे पेड़ों पर काफी आम बन गया है। कहीं मटर के दाने तथा कहीं बेर बराबर आम पेड़ों पर गुच्छों की शक्ल में देखे जा सकते हैं।

पिछले पचास वर्षों में कभी ऐसा नहीं हुआ जबकि सभी प्रजातियों के आम के सभी पेड़ों पर पूरे भरकर एक साथ बौर लदा हो। सभी बागों के सभी पौधे बौर से लदे और अधिकांश पेड़ों की तो यह हालत हो गयी कि बौर की अधिकता से उनके पत्ते तक नहीं दिखाई दिये। यह कई दशकों में भी नहीं देखा गया।

mango-fruit
आम पर इस बार बहुत बौर आया है.
जितना आम पेड़ों पर दिखाई दे रहा है, यदि उसका पांच फीसदी भी पूरे आकार में आने तक बचा रहा तो रिकार्ड पैदावार होगी। तब यह कहा जा सकेगा कि आम, आम आदमी की पहुंच में रहेगा। अप्रैल और मई केवल दो माह ऊपर वाला आंधी से बचाये रखे तो हमारा जनपद रिकार्ड आम का उत्पादक बनेगा।

यहां अमरोहा, हसनपुर तथा गजरौला के आसपास आम के बाग भारी संख्या में हैं।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.