Header Ads

"यूपी की कानून व्यवस्था को 100 में 100 नंबर नहीं दिये जा सकते"

ram-naik-up
राज्यपाल मुरादाबाद में तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में आये थे.

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने एक दीक्षांत समारोह के दौरान कहा कि यूपी की कानून व्यवस्था को पूरे नंबर नहीं दिए जा सकते. अभी और सुधार करने की जरुरत है. वहीं कहा कि मुजफ्फरनगर दंगे के मामले में मुकदमा वापस लेने के सरकार के फैसले में कुछ गलत नही है. उन्होंने कहा कि यह सरकार का विशेषाधिकार है कि वह मुकदमों पर पुनर्विचार कर सकती है. राज्यपाल मुरादाबाद में तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में आये थे.

राज्यपाल राम नाईक ने यूपी की कानून व्यवस्था को दुरुस्त बताते हुए कहा कि यहाँ कानून व्यवस्था बेहतर हो रही है. उसमें सुधार हुआ है. लेकिन अभी और सुधार की जरुरत है. अभी 100 में 100 नंबर नहीं दिये जा सकते.

राम नाईक ने कहा टीएमयू में मैडल हासिल करने वाली वाली बेटियां 70 फीसदी हैं जबकि बेटे 30 प्रतिशत. यूपी में 51 फीसदी बेटियों ने मैडल पाकर लड़कों को पीछे कर दिया है. उन्होंने कहा कि वे इस कार्यक्रम के माध्यम से पहली बार मुरादाबाद आये हैं. उन्होंने नरेंद्र मोदी के 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' नारे की चर्चा भी की.

उन्होंने कहा कि प्रयास से सफलता प्राप्त होती है. इसलिए निरंतर मेहनत जरुरी है.