Header Ads

'भाजपा का दलित प्रेम छलावा’ -हेम सिंह आर्य

hem-singh-arya
'इस तरह के दौरे भाजपा नेता दलितों को रिझाने तथा 2019 के चुनावों के लिए कर रहे हैं'.

पूर्व बसपा जिलाध्यक्ष हेम सिंह आर्य ने कहा है कि भाजपा नेता दलितों के घर भोजन खाने के कार्यक्रम आयोजित कर अपना उल्लू सीधा करने की फिराक में हैं। लोकसभा चुनावों में दलितों के वोट हासिल करने को यह हथकंडा अपनाया जा रहा है। आर्य ने कहा कि दलित समुदाय भाजपा की भावना को समझ चुका तथा उनके छलावे में नहीं आने वाला। उन्होंने कहा कि दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यक भाजपा के खिलाफ एकजुट हो रहे हैं, इसका प्रमुख कारण इन सभी समुदायों का भाजपा द्वारा शोषण किया जाना है।

बसपा नेता ने भाजपा द्वारा बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर के जन्मदिन को धूमधाम से मनाने को भी नाटकबाजी करार दिया। मुख्यमंत्री द्वारा जिले के दो अनुसूचित जाति के कर्मचारियों को निलंबित किये जाने पर भी हेम सिंह ने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि जिले के विकास कार्यों का दायित्व डीएम पर होता है। अकेले डीपीआरओ या एडीओ को कैसे जिम्मेदार माना गया?

बसपा नेता ने मेंहदीपुर गांव की प्रधान प्रियंका के घर खाना खाने वाले भाजपा नेताओं सहित मुख्यमंत्री को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि प्रधान की किसी भी मांग को नहीं माना गया। प्रधान ने गांव में बालिका इंटर कालेज तथा पशु चिकित्सालय की मांग की थी। उन्होंने कहा कि यह गांव अम्बेडकर गांव पहले से घोषित है जहां पक्की सड़कें और जो सुविधायें थीं, उनसे आगे भाजपा सरकार ने कुछ भी नहीं किया।

बसपा नेता के अनुसार इस तरह के दौरे भाजपा नेता दलितों को रिझाने तथा 2019 के संसदीय चुनावों के लिए कर रहे हैं लेकिन उनकी मंशा को दलित, पिछड़े और सभी वर्गों के लोग समझ रहे हैं। इसका जवाब जनता चुनाव में देगी।

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.