Header Ads

जिले में विकास की सरिता बहाने को सरिता के तेवर तल्ख

bhupendra-singh-sarita-chaudhary
जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष रेनू के कार्यकाल में मंजूर 15 करोड़ के विकास कार्यों को रद्द कर दिया गया.

जिला पंचायत बोर्ड की पहली बैठक में नवनिर्वाचित अध्यक्ष सरिता चौधरी ने कई महत्वपूर्ण फैसलों के साथ अपनी मंशा और तेज तर्रार छवि का स्पष्ट संदेश दिया। उन्होंने निवर्तमान अध्यक्ष रेनू चौधरी के कार्यकाल के लगभग 15 करोड़ के प्रस्तावों को एक झटके में निरस्त कर दिया। गजरौला में नगर पालिका द्वारा थाना चौराहे पर कब्जा की भूमि पर गेस्ट हाउस बनाने और तिगरी के सौंदर्यकरण जैसे क्रांतिकारी प्रस्ताव भी बैठक में पारित हुए। जिला योजना में 156 करोड़ के प्रस्तावों को हरी झंडी दी गई।

जिला पंचायत अध्यक्ष सरिता चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित जिला पंचायत बोर्ड की बैठक वास्तव में बजट बैठक थी जिसमें बोर्ड ने मौजूदा वित्त वर्ष के लिए जहां 29 करोड़ का बजट स्वीकार किया वर्ष 17-18 के पुनरीक्षित बजट को भी मंजूरी दे दी है। मनरेगा के लेबर बजट को 61 करोड़ के करीब स्वीकृति दी गई। जिला योजना में 156 करोड़ के प्रस्ताव को पारित किया गया।

इसी के साथ सपा की जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष रेनू चौधरी के कार्यकाल में मंजूर 15 करोड़ के विकास कार्यों को रद्द कर दिया गया। अभी इन  कामों की टेंडर प्रक्रिया भी शुरू नहीं हुई थी। बैठक में अध्यक्ष ने अधिकारियों को जल्दी ही गजरौला में 1296 वर्ग मीटर जमीन पर गेस्ट हाउस के लिए से कब्जा मुक्त कराने की प्रक्रिया अमल में लाने का निर्देश भी दिया।

तिगरी में गेट का नवीनीकरण तथा सौंदर्यकरण के काम को शुरू करने का भी निर्णय हुआ। कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान, सांसद कंवर सिंह तवर विधायक राजीव तरारा ने शासन की योजनाओं पर तेजी से काम करने को कहा। सीडीओ सीपी सिंह, चौधरी भूपेंद्र सिंह, कई भाजपा नेता और जिला पंचायत सदस्य शामिल थे।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.