Header Ads

"मैं सांसद रहूं या न रहूं, लेकिन आरक्षण से छेड़छाड़ नहीं होने दी जाएगी"

savitri-bai-phule
भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी पार्टी के खिलाफ आरक्षण को लेकर मुहीम शुरू कर दी है.

बीजेपी के नेता अब अपनी पार्टी के सामने खड़े हो गए हैं. भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने आरक्षण के मुद्दे पर अपनी ही सरकार के खिलाफ मुहीम शुरू कर दी है. उनका कहना है कि मैं सांसद रहूं या न रहूं, लेकिन आरक्षण से छेड़छाड़ नहीं होने दी जाएगी. उन्होंने कड़े लहजे में कहा कि इसे किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता.

बता दें कि जिला पंचायत सदस्य के बाद विधायक और बाद में बीजेपी की सांसद बनीं. सावित्री बाई फुले बहराइच से सांसद हैं. कांशीराम स्मृति उपवन में आयोजित साध्वी सावित्री बाई फुले की रैली ने अपनी रणनीति को स्पष्ट किया.

सावित्री ने आरक्षण को प्रतिनिधित्व का मुद्दा बताते हुए कहा कि इसे भीख कहना संविधान का अपमान है. वे समय-समय पर बीजेपी के नेताओं पर आरक्षण को लेकर कई गंभीर आरोप भी लगा चुकी हैं.