Header Ads

खेल प्रतिभा दीपा सिरोही योग साधना की ओर

deepa sirohi photo
दीपा योग कक्षाओं के द्वारा लोगों को लाभान्वित करने में जुटीं हैं.
राष्ट्रीय स्तर पर खेल जगत में ख्याति प्राप्त दीपा सिरोही अष्टांग योग के लाभ शिक्षा, पुलिस और प्रशासन में संलग्न छात्रों और कर्मचारियों को उपलब्ध करान चाहती हैं। वे कुछ स्कूलों, थानों तथा जिला मुख्यालयों में प्रत्येक रविवार को अपनी सेवाएं प्रदान करने का सिलसिला शुरु करने वाली हैं। इससे हमारे लोगों में सकारात्मक सोच के साथ नयी ऊर्जा का संचार होगा।

दीपा सिरोही मंडी धनौरा ब्लॉक के मल्हूपुरा गांव निवासी चौ. यशपाल सिंह की बेटी हैं। उनके भाई उमेन्द्र सिरोही भारतीय सेना में हेल्थ इंस्ट्रक्टर हैं। वे स्वदेश के साथ ही ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों में भी सेवायें प्रदान कर चुके हैं। दीपा अपने भाई की सेवाओं से प्रेरित हैं।

दीपा ने टाइम्स मुख्यालय में वार्ता के दौरान अपना मंतव्य स्पष्ट किया और बताया कि वे शिक्षा के दौरान योग की ओर आकर्षित हुईं और उसके आशातीत लाभ ने उन्हें आगे बढ़ने का साहस और उत्साह प्रदान किया। हालांकि उनके सामने नौकरियों के कई अवसर बार-बार आए लेकिन उन्हें योग के प्रति ऐसा लगाव उत्पन्न हुआ कि उससे एकाकार हो गयीं।

दीपा ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा कि वे योग के लाभ अधिक से अधिक लोगों को उपलब्ध कराना चाहती हैं। आज की भागमभाग तनावपूर्ण जीवन शैली में सुख-शांति और स्वास्थ्य बनाए रखने में योग सबसे सस्ता और सरल उपाय है।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि योग किसी धर्म अथवा सम्प्रदाय विशेष के बजाय सम्पूर्ण मानवता के लिए है। दीपा ने मुस्लिम देशों में भी योग को अपनाया जाना इसका प्रमाण बताया। उन्होंने बताया कि खाड़ी देशों में अरब योगा फाउंडेशन नामक संस्था की संचालिका नौफा मारवाई योगा का प्रचार कर रही हैं। जिससे वहां लोगों में योग के प्रति रुचि बढ़ती जा रही है। दीपा के मुताबिक खाड़ी देशों में मक्का-मदीना सहित अनेक शहरों में योगा एक व्यवसाय का रुप लेता जा रहा है। योग से आए मानक जीवन में सकारात्मक बदलाव के कारण यह सब हो रहा है।

दीपा के काम के दौरान कई कारणों से व्याप्त तनाव पर नियंत्रण के लिए योग को कारगर बताते हुए इसे पुलिस और प्रशासन के कर्मचारियों के लिए आवश्यक करार दिया। वे रविवार में ऐसे लोगों को योग का अभ्यास करायेंगी। उनका मानना है कि इससे निराशा और तनाव से जहां मुक्ति मिलेगी वहीं नयी ऊर्जा और उत्साह का संचार होगा।

उन्होंने छात्र-छात्राओं को योग से जोड़ने का काम भी शुरु किया है तथा नियमित कक्षाएं चल रही हैं। योग स्वस्थ शरीर और स्वस्थ दिमाग बनाए रखने का साधन हैं जिसके द्वारा हमारे देश के नागरिक स्वस्थ और ऊर्जावान बनकर देश के विकास को गति प्रदान करेंगे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.
(महिपाल सिंह)