shivraj singh jyotiraditya scindia
हमलोग इस माटी को सिर पर लगाकर पांच सालों तक जनता की सेवा करेंगे.
कांग्रेस ने राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में बेहतरीन प्रदर्शन किया और भाजपा की सत्ता को उखाड़ फेंका. मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नतीजे बहुत देर से आए। वहां कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

शिवराज सिंह चौहान ने अपना इस्तीफा देते हुए कहा कि किसी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। भाजपा को वोट ज़्यादा मिले लेकिन हम संख्या बल में पिछड़ गए। उन्होंने कहा कि वे संख्या बल के सामने सिर झुकते हैं।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस को 114 सीटें मिली हैं, जबकि भाजपा उसके करीब रही है। उसे 109 सीटें प्राप्त हुई हैं। कांग्रेस को मध्य प्रदेश में 40.91 फ़ीसदी वोट मिले हैं। बीजेपी को 41 फ़ीसदी मत मिले जो कांग्रेस से ज्यादा हैं।

जयोतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसते हुए कहा कि मैं अब कहूंगा- माफ़ कीजिए शिवराज जी अब आया है जनता का राज। हमलोग इस माटी को सिर पर लगाकर पांच सालों तक जनता की सेवा करेंगे।

बहुजन समाज पार्टी को दो सीटें मिली हैं। समाजवादी पार्टी को एक सीट प्राप्त हुई है जबकि चार पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं। बसपा और सपा ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है।

ये रहा मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव का हाल :
कांग्रेस : 114 सीट
भाजपा : 109 सीट
बसपा : 2 सीट
सपा : 1 सीट
अन्य : 4 सीट