health-amroha
चिकित्सकों के मुताबिक प्रदूषित पानी, प्रदूषित वायु और तेजी से बढ़ता तापमान बीमारियों की बड़ी वजह है

मौसम गरम होने से बुखार, डायरिया समेत कई संक्रामक रोग तेजी से फैलने शुरु हो गये हैं। झोलाछाप चिकित्सकों से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में मरीज़ों की भीड़ बढ़ती जा रही है। जगह-जगह खुली पैथोलॉजी लैब जांच को आने वाले मरीज़ों से खचाखच हैं। खून की जांच लगभग सभी मरीज़ों की की जाने का रिवाज हो गया है।

चिकित्सकों के मुताबिक प्रदूषित पानी, प्रदूषित वायु और तेजी से बढ़ता तापमान बीमारियों की बड़ी वजह है। गरमी में इससे संक्रमण तेजी से फैलता है। लोग पीने के पानी और भोजन की शुद्धता की जानकारी के अभाव में बीमारियों की गिरफ्त में आ रहे हैं।

जिला अस्पताल में कई दिन से मरीज़ों की लंबी कतार लगी रहती है जहां लंबे इंतज़ार के बाद दवाई मिलती है। कई लोग ऐसे में झगड़े पर भी उताररु हो जाते हैं। अस्पताल में पर्याप्त दवाईयां उपलब्ध न होने से लोग और भी असहज हो उठते हैं। यह केवल जिला अस्पताल की ही बात नहीं बल्कि जिले के प्रमुख सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों जिनमें गजरौला, धनौरा, हसनपुर तथा बछरायूं आदि में मरीज़ों की भरमार है और ज्यादातर दवाईयां मेडिकल स्टोर से लेनी पड़ती हैं। जन-औषधि केन्द्रों पर जरुरी दवाओं का टोटा है। निराश लोग मेडिकल स्टोर से दवाईयां खरीदने को मजबूर हैं।

ऐसे लोगों की भारी तादाद है जो गांवों, कस्बों तथा शहरों की गलियों में अड्डे जमाए बैठे झोलाछाप से इलाज कराना पसंद करते हैं। कई मेडिकल स्टोर संचालक प्रशिक्षित चिकित्सक की भांति मरीज़ों का उपचार कर रहे हैं। बीमारों की संख्या बढ़ने का लाभ ऐसे कई तत्व उठा रहे हैं।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.