रामपुर से विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं आजम खां

azam-khan-rampur
रामपुर विधानसभा उपचुनाव के बाद तय करेंगे कि सांसद रहना है या विधायक.
इस लोकसभा चुनाव में सांसद चुने गए आजम खां ने कहा है कि वे रामपुर विधानसभा के उपचुनाव में उतर सकते हैं। फिलहाल उन्होंने विधायक पद से अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को भेज दिया है। आजम ने कहा है कि उपचुनाव के बाद तय होगा कि उन्हें सांसद रहना है या विधायक रहना है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि रामपुर के लोगों का ख्याल तो रखना पड़ता है। उन्हें किसके हाल पर छोड़ दूं।

नौ बार रामपुर सीट से विधायक रहे आजम खां ने हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में यहां से भाजपा की जयाप्रदा को 1 लाख दस हजार वोट से करारी शिकस्त दी थी। उनकी इस भारी जीत के बाद मुरादाबाद मंडल में भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया था। यहां मोदी लहर नहीं, केवल गठबंधन लहर चली थी।

उधर जौहर यूनिवर्सिटी की चाहरदीवारी में नदी की जमीन होने के मामले में आजम खां पर मुकदमा दर्ज हुआ है। वे यूनिवर्सिटी के चांसलर भी हैं। उन्होंने कहा है कि उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 332 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गयी है। यह सरकारी काम में बाधा डालने के तहत दर्ज की गयी है जबकि आजम खां ने पूरे मामले को झूठा करार दिया है।

-टाइम्स न्यूज़ रामपुर.

No comments