पॉलीथिन के खिलाफ गजरौला पालिका सख्त, जुर्माने की चेतावनी

polythene-ban-gajraula
पॉलीथिन का प्रयोग करने पर एक हजार तक का जुर्माना वसूला जायेगा.
नगर को पॉलीथिन तथा अतिक्रमण मुक्त करने की पालिका प्रशासन ने फिर से मुहिम छेड़ दी है। इस सिलसिले में इ.ओ. की ओर से नगर की गलियों में जाकर पालिका कर्मियों ने लोगों को चेतावनी जारी की है कि पॉलीथिन का प्रयोग करने पर एक हजार तक का जुर्माना वसूला जायेगा। साथ ही सड़कों के किनारे बजरी, बजरपुट तथा दूसरे सामान लगाने वाले दुकानदारों को भी चेतावनी दी है कि वे यथा समय सड़कें खाली करें अन्यथा उन्हें इसकी भारी कीमत चुकाने को तैयार रहना होगा।

गौरतलब है कि पालिका स्वच्छता अभियान में सख्ती के साथ सक्रिय है जिससे नगर में गंदगी कम हुई है, लेकिन अभी भी स्थानीय नागरिकों का पूरा सहयोग नहीं मिल रहा। कई लोग जानबूझकर कचर इधर-उधर फेंक रहे हैं। खाली पड़े कई प्लॉट गंदगी से अटे पड़े हैं। पॉलीथिन प्रतिबंधित करने के बाद कूड़ा-कचरा बहुत ही कम हो गया था लेकिन फिर से कुछ दुकानदार पॉलीथिन का इस्तेमाल कर रहे थे। ऐसे में पालिका प्रशासन फिर से सख्त हुआ है और उसने चेतावनी के साथ अपने तेवर दिखाने शुरु भी किए हैं। इससे ठेले वाले, पटरी पर साप्ताहिक पैठ वाले और गली-मोहल्ले के दुकानदारों में खलबली है तथा पॉलीथिन बंद होता दिखा रहा है।

जरुर पढ़ें : 'पॉलीथिन बनाने वाली फैक्ट्रियों और थोक विक्रेताओं पर रोक लगे’

पॉलीथिन और थरमाकोल के कप, प्लेट तथा गिलास बेचने वालों पर भी शिकंजा कसा जा रहा है। ऐसे उत्पाद पर्यावरण और जन जीवन के लिए खतरनाक हैं। ऐसे में सामान बेचने वालों में पालिका के कदम से घोर निराशा तथा रोष है। पहले ही मंदी की मार झेल रहे ये दुकानदार सिर पकड़कर बैठ गए।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

No comments