जिला पंचायत के हाथ में रहेगी तिगरी गंगा मेले की कमान

bhupendra-sarita-chaudhary-ganga-mela
इस बार शासन ने पहले ही जिला पंचायत को कार्यदायी संस्था घोषित कर दिया है.
तिगरी गंगा मेले की व्यवस्था राज्य सरकार के हवाले करने की मांग आंचलिक पत्रकार लंबे समय से करते रहे हैं। कई नेता तथा  सामाजिक कार्यकर्ता भी मेला समापन के मौके पर आयोजकों द्वारा बुलाई बैठकों में कई बार यह मांग करते रहे हैं। प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद यह मांग पूरी हो गयी थी। परंतु व्यवस्था में जिला पंचायत और जिला प्रशासन में सामंजस्य न होने से सुधार नहीं हुआ।

इस बार शासन ने पहले ही जिला पंचायत को कार्यदायी संस्था घोषित कर दिया है। अध्यक्ष सरिता चौधरी ने तैयारी का दायित्व अपने कंधों पर लिया है। जिला प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद है। भाजपा नेता चौ. भूपेन्द्र सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष का पूरा सहयोग कर रहे हैं। 
ganga-mela-tigri

जरूर पढ़ें : गंगा मेले में बेहतर सुविधाओं की तैयारी, जिला पंचायत और प्रशासन जोर-शोर से जुटा

सामाजिक चिंतक अब्दुल सलाम मेव का कहना है कि आंचलिक पत्रकार जीएस चाहल, चमन सिंह, उमेश शर्मा, महिपाल सिंह तथा स्व. अलीहसन सैफी दशकों से मेले को राजकीय घोषित कराने की आवाज उठाते रहे। जिसे योगी सरकार ने पूरा किया। वैसे भाजपा विधायक राजीव तरारा की कोशिश से यह मांग पूरी हुई। उन्हें दूसरी सुविधाओं के लिए कोशिश करनी चाहिए।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

No comments