जलवायु परिवर्तन और जल संकट पर गहन चिन्तन

tata-steel-program-gajraula
इस मौके पर पूर्व पीएम चौ. चरण सिंह के जीवन से संबंधित एक डाक्यूमेंट्री दिखाई गई.
टाटा शक्ति और आशु एंटरप्राइजेज की ओर से आयोजित कार्यक्रम में जहां पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह का स्मरण किया वहीं जलवायु परिवर्तन और जल संरक्षण पर विचार विमर्श हुआ। इस मौके पर कम्पनी प्रतिनिधि तथा क्षेत्रीय किसान मौजूद रहे।

इस मौके पर किसानों के मसीहा पूर्व पीएम चौ. चरण सिंह के जीवन से संबंधित एक डाक्यूमेंट्री दिखाई गई। किसानों के हित में चौधरी साहब द्वारा बनाई योजनाओं का प्रसारण दिखाने में जमींदारी उन्मूलन में उनके काम की सराहना की गयी। एक किसान के बेटे से प्रधानमंत्री बनने में उनके संघर्ष का लघु चित्र प्रस्तुत किया गया। एक वक्ता ने कहा कि 1977 में कांग्रेस को पराजित कर सत्ता में आयी जनता पार्टी ने उनकी पार्टी बीकेडी के चुनाव चिन्ह 'हलधर’ पर वह चुनाव जीता था। किसानों के उत्थान के लिए चिन्तित चौ. चरण सिंह के नाम पर ही जनता पार्टी को किसानों ने वोट दिये थे।

टाटा शक्ति के बिजनेस मैनेजर राजेश जैन और क्षेत्रीय सेल्स ऑफिसर विशाल जायसवाल ने कहा कि टाटा ने हमेशा गांव और किसानों की जरुरतों के मुताबिक उत्पाद तैयार किए हैं। उन्होंने कहा कि उनकी कम्पनी टाटा शक्ति को किसानों पर गर्व है। इसीलिए किसानों के आवास और भवन निर्माण के लिए बहुउपयोगी स्टील चादरों का निर्माण किया है। जो बहुत टिकाऊ है। आशु एंटरप्राइजेज के स्वामी आशीष पुष्कर और अनुभव पुष्कर ने चौ. चरण सिंह के स्मरण के साथ कार्यक्रम शुरु किया। समापन के दौरान उन्होंने आगंतुक किसानों का आभार जताया और पर्यावरण संरक्षण तथा जलसंरक्षण के प्रति गंभीरता दिखाई। उन्होंने लोगों से जल संकट का सामना करने के लिए जल बचाने तथा उसकी बरबादी रोकने का आहवान किया। उन्होंने चिंता जाहिर की कि आज जलवायु परिवर्तन व जल संकट वैश्विक समस्या बनती जा रही है।

कार्यक्रम में रवि सिंह, सोमपाल सिंह, मनिंदर सिंह, अख्तर हुसैन, अनिल चौधरी, डूंगर सिंह महाशय, प्रीतम सिंह, राजपाल सिंह आदि किसान मौजूद थे। भोजनोपरांत सभी को सम्मानित कर विदा किया गया।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

No comments