अमरोहा जिले के साठ हजार किसान सम्मान निधि से वंचित

sugarcane-farmer-gajraula
किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए लोकसभा चुनाव से पूर्व यह योजना शुरु की थी.
लोकसभा चुनाव से पूर्व फरवरी 2019 में केन्द्र सरकार द्वारा शुरु की गयी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का जनपद के करीब साठ हजार किसानों को एक साल बीतने पर भी लाभ नहीं मिला। ऐसे किसान जरुरी कागजात भी जमा करा चुके। कई लोगों ने ऑनलाइन आवेदन भी कर दिया। उन्हें पेन्डिंग मैसेज मिल रहा है। संबंधित कर्मचारी भी समस्या का समाधान कराने की बजाय पटवारी से संपर्क का बहाना बनाकर टरका रहे हैं। एक समस्या प्रथमा बैंक सहित तीन ग्रामीण बैंकों को विलीन कर यूपी प्रथमा बैंक नाम से नया बैंक बना देने से भी आयी है। इससे तमाम किसानों की खाता संख्या और कोड बदल गया है। बैंक का नाम तो बदल ही गया है।

दरअसल भाजपा लोकसभा चुनाव से पूर्व राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों की सत्ता गंवा चुकी थी। ऐसे में उसे किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए लोकसभा चुनाव से पूर्व किसान सम्मान निधि योजना शुरु कर दी। जिसकी पहली किश्त के दो हजार रुपए कुछ किसानों के  खातों में चुनाव से पूर्व भिजवा दिए। इसका लाभ भाजपा को मिला। उसे भारी बहुमत मिल गया। ऐसे में बहुत से किसान योजना के लाभ से वंचित रहे। सरकार या उसके अफसर कुछ भी कहें लेकिन किसानों को लाभांवित करने में प्रदेश सरकार विफल रही है।
sugarcane-farmer-gajraula

अमरोहा जनपद में दो लाख किसानों ने योजना में आवेदन किया लेकिन 1-40 लाख किसानों को ही लाभ मिला है। साठ हजार को अभी तक एक भी किश्त नहीं मिली। इन किसानों ने नियमानुसार आवेदन किया है। अब जांच का बहाना बना कर टाल-मटोल किया जा रहा है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.