फीस के दबाव के विरोध में भारी प्रदर्शन, समाजसेवी और अभिभावक फीस के खिलाफ एकजुट

tejveer-aluna-school-fee-hike
'पीएम और सीएम को पत्र लिखकर इस तरह की फीस बंद कराने का निवेदन किया जाएगा'.

बंद पड़े स्कूलों द्वारा छात्र अभिभावकों पर फीस का दबाव बनाने के खिलाफ नगर के समाजसेवियों और अभिभावकों ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने 'नो स्कूल-नो फीस' के नारे लिखा बैनर भी ले रखा था।

विरोध प्रदर्शन के दौरान चौ. तेजवीर सिंह अलुना ने कहा कि कोरोना काल में स्कूल बंद पड़े हैं। इसके विपरीत छात्रों से कम्प्यूटर फीस, बिल्डिंग फीस, मेंटीनेंस फीस, ट्रांस्पोर्ट फीस, स्मार्ट क्लास फीस, डेवलपमेंट फीस, एग्जाम फीस आदि वसूलने का दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह सरासर गलत है। इसका पुरजोर विरोध किया जायेगा।

रेलवे स्टेशन निवासी प्रदीप वर्मा ने कहा कि वार्षिकोत्सव तथा ऑनलाइन एजुकेशन की फीस पूरी तरह नाजायज है। वे इसका विरोध करेंगे। एवीबीपी नेता विपिन सागर ने कहा कि स्कूल में पैर तक नहीं रखा और छात्रों पर अनेक तरह के शुल्क लादने का काम शुरु कर दिया गया। उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल नाजायज है जिसके एवीबीपी पूरी तरह खिलाफ है।

school-fee-hike-gajraula

युवा व्यापारी नेता नवीन गर्ग ने कहा कि बिना पढ़ाए तमाम शुल्क वसूलना पूरी तरह गलत है। इसका विरोध किया जायेगा। नीटू आरखपुर तथा वीरेन्द्र सिंह जमापुर ने भी विरोध प्रदर्शन में विचार रखे।

फीस का विरोध करने वालों ने कहा कि एकजुट होकर इस नाजायज काम का विरोध करेंगे तथा पीएम और सीएम को पत्र लिखकर इस तरह की फीस बंद कराने का निवेदन किया जाएगा।

इस दौरान प्रदीप कुमार वर्मा, विकास सैनी, हरिओम पाल,संजय कश्यप, चन्द्र प्रकाश रस्तोगी, अजय शर्मा भी मौजूद रहे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.