भगवान सिंह काले नहीं रहे, कोरोना संक्रमण बना जानलेवा

bhagwan-singh-moga-wale

भगवान सिंह लगभग एक माह से बीमार थे और उनका दिल्ली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था.

नगर के प्रमुख ट्रांसपोर्टर और होटल कारोबारी भगवान सिंह काले का इलाज के दौरान निधन हो गया। भगवान सिंह लगभग एक माह से बीमार थे। उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया था। दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल में इलाज के दौरान 13/14 दिसम्बर की रात एक बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन से परिवार और करीबी संबंधियों में शोक व्याप्त हो गया। वे 57 वर्ष के थे। उनके परिवार में भाई, पत्नी तथा उनके बच्चे हैं।

दिवंगत का पार्थिव शरीर सोमवार प्रात: छह बजे दिल्ली से उनके गजरौला आवास पर लाया गया। समाचार मिलने तक अंतिम दर्शन के लिए दूर दराज से लोगों के आने का सिलसिला जारी था। काले धार्मिक तथा सामाजिक सेवाओं में बढ़चढ़ कर भाग लेते थे। मोगा वालों के नाम से उनके परिवार को पहचाना जाता है।

bhagwan-singh-kale-gajraula

भगवान सिंह के असमय निधन पर पूर्व सांसद देवेन्द्र नागपाल, पालिकाध्यक्ष अंशु नागपाल, डॉ. सुरेन्द्र सिंह चाहल, गुरमुख सिंह चाहल, स. अमरजीत सिंह, स. हरभजन सिंह, सहित नगर के लोगों ने शोक व्यक्त किया तथा ईश्वर से उनकी आत्मा को सद्गगति प्रदान करने की अरदास की।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.