प्रमुख समाजसेवी और प्रतिष्ठित व्यवसायी अरविन्द अग्रवाल नहीं रहे

अरविन्द अग्रवाल नहीं रहे

नगर के प्रतिष्ठित व्यवसायी तथा प्रमुख समाजसेवी अरविन्द अग्रवाल का लंबी बीमारी के कारण निधन हो गया। वे चेन्नई के एक अस्पताल में इलाज करा रहे थे। आज भोरकाल में उन्होंने अंतिम सांस ली। 64 वर्षीय अरविन्द अग्रवाल के परिवार में उनकी पत्नी, बेटा, पुत्र-वधु और पौत्र हैं। वैसे उनके बड़े भाई जगदीश शरण अग्रवाल के भरे पूरे परिवार सहित उनका काफी बड़ा परिवार है।

दिवंगत अरविन्द अग्रवाल फिलहाल नगर के ज्ञान भारती इंटर कॉलेज की प्रबंध समिति के अध्यक्ष थे। शंभू स्वीट्स उनका प्रसिद्ध प्रतिष्ठान है। दिवंगत अग्रवाल जी अपने मधुर व्यवहार और मिलनसारी की वजह से लोकप्रिय थे। कई समाजसेवी संस्थाओं की आर्थिक सहायता में वे बढ़-चढ़ कर सहयोग करते रहे हैं। उनके निधन से नगर तथा दूर-दराज क्षेत्र में शोक व्याप्त है तथा लोग उनके तथा उनके ​परिवार के साथ सहानुभूति व्यक्त कर रहे हैं।

अरविन्द काफी समय से बीमार थे तथा चिकित्सकों की दवाईयों के सहारे स्वास्थ्य लाभ लेते हुए अपने व्यवसाय को भी बराबर समय देते रहे थे। एक माह से वे अधिक बीमार रहने की वजह से गहन चिकित्सा में अस्पताल में थे। उन्हें चेन्नई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान ही उनकी सांसें थम गयीं। उनका शव सायं चार बजे के बाद किसी भी समय गजरौला लाया जायेगा। शव की प्रतीक्षा में उनके घर लोगों का तांता लगा है।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.