योगेन्द्र कुमार बंटू का आ​क्स्मिक निधन

योगेन्द्र कुमार बंटू

ट्रांसपोर्टर तथा समर्पित आरएसएस नेता योगेन्द्र कुमार बंटू का हृदय गति रुकने से अचानक निधन हो गया। वे 50 वर्ष के थे। बंटू अपने पीछे दो बेटियां, एक बेटा और पत्नी को छोड़ गये हैं। उनकी मौत से जहां उनके परिजन दुखी हैं वहीं नगर में शोक की लहर है। लोग शोकाकुल परिवार को सांत्वना देने बस्ती स्थित उनके आवास पर पहुंच रहे हैं। बंटू के पार्थिव शरीर को तिगरीधाम में गंगा तट पर अग्नि के सुपुर्द कर अंतिम संस्कार कर दिया। इस दौरान नगर तथा क्षेत्र के अनेक लोग मौजूद थे। धनौरा विधायक राजीव तरारा तथा पूर्व सांसद देवेन्द्र नागपाल, पालिका परिषद की चेयरपर्सन अंशु नागपाल और पूर्व विधायक हरपाल सिंह ने योगेन्द्र बंटू के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए दुखी परिवार को सांत्वना दी है। उन्होंने दिवंगत की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की।

बंटू किशोर अवस्था से आरएसएस से जुड़े थे तथा अपने कई साथियों के साथ समाज सेवा में संलग्न थे। वे सभी वर्गों से संतुलित संबंध कायम रखते थे। उनके मधुर व्यवहार के कारण लोग उन्हें पसंद करते थे। यही वजह रही कि उनके स्वर्गवास से नगर में शोक व्याप्त है।

भाजपा नेता सुरेन्द्र औलख, वरिष्ठ आरएसएस नेता स. पुष्विन्दर सिंह, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष उत्तम प्रजापति, पूर्व सभासद अनिल अग्रवाल, व्यापारी नेता जगदीश शरण अग्रवाल, जयदेव अग्रवाल, गोपाल अग्रवाल, बसपा नेता विचित्र भाटी, डॉ. आशुतोष भूषण शर्मा, पूर्व सभासद कपिल कुमार गोयल, संघ नेता सूरजभान गोयल सहित नगर तथा क्षेत्र के अनेक लोगों ने बंटू की दुखद मृत्यु पर गहरा दुख व्यक्त किया है और शोकाकुल परिवार के प्रति गहरी संवेदना और सहानुभूति प्रकट की है।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.